Wednesday, May 23, 2012

जन्म -दिन__ तेरी उम्र आज चाँद तारों पे लिख दी है मैंने

मेरी प्यारी नन्नी सी बेटी रुपाली महाजन चावला ---------जन्मदिन की बहूत बहूत मुबारक ----
24th मई -----खुदा तुम्हे हमेशां खुशीआं दे .................


तेरी उम्र आज चाँद तारों पे  लिख दी है मैंने
तेरे जन्म-दिन पे बहारों से लिख  दी है मैंने ।

सजा ली है महफ़िल अब उन लफ़्ज़ों से मैंने
तेरी ज़िन्दगी उन सितारों से लिख दी है मैंने ।

दिन महीना और तारीख जो खुदा ने चुनी है
सब खुशीआं सब दीवारों पे लिख दी है मैंने ।

हर तमन्ना और ख्वाहिश तेरे कदम चूमे
अब हर गुंजाईश किनारों पे लिख दी है मैंने ।

मेरी हस्ती भी तुझ में इस तरह समा जाए
अब खुशीआं तेरे इशारों पे लिख दी है मैंने ।

कभी ज़िन्दगी तन्हा नज़र आये तुझे बेटा,
मम्मी-डेडी की तहरीर तारों पे लिख दी है मैंने।

खाविंद की कसम कभी भूल कर भी न खाना
ये तामील उसके अधिकारों में लिख दी है मैंने ।

ज़िन्दगी की बगिया में फूल हमेशां खिलते रहे
इक तहरीर सुनहरी अक्षरों में लिख दी है मैंने ।

"जनम दिन मुबारक हो -जनम दिन मुबारक हो "


________________हर्ष महाजन ।