Saturday, November 3, 2012

न ही शिकवा है न कोई भी गिला करता हूँ

जनम-दिन मुबारक जनम-दिन मुबारक
______________सुरेश महाजन ________________

न शिकवा करूँ न गिला करता हूँ ,
रहे तू सलामत ये दुआ करता हूँ |
उलझन में तुझको दूँ क्या तोहफा,
फूल कम है ज़िन्दगी अदा करता हूँ

बता तुझको तेरे जन्म पे मैं क्या दूँ,
कुछ नज्मों गजलों को जुदा करता हूँ |
मुझे मेरे शेरों के हर्फों की कसम है,
जन्म-दिन पे तुझको अदा करता हूँ |


जनम-दिन मुबारक जनम-दिन मुबारक

___________हर्ष महाजन